सफलता की कहानियाँ

काम ही सफलता की कुन्जी है प्रथम
काम ही सफलता की कुन्जी है द्दितीय
काम ही सफलता की कुन्जी है त्रितीय
कर्म ही भाग्य का निर्माता है
रानी ने अपने साथ पुरे समूह कि तक़दीर बदली