News & Updates

रानी ने अपने साथ समूचे समूह की तक़दीर बदल दी

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले की नकुड तहसील के सरसावां ब्लाक की “परी स्वयं सहायता समूह” की महिला सदस्यों ने तो वाकई कमाल कर दिया, सिर्फ अपनी ही नहीं बल्कि गाँव की अनेक महिलाओं की जिंदगी ही बदल कर रख दी. गाँव की एक महिला है. अन्य ग्रामीण महिलाओं की तरह ही गरीब, सीधी-सादी सी आम सी महिला. नाम है रानी. मिजाज़ से भी रानी है, गरीबी के माहौल से असंतुष्ट, कुछ कर गुजरने को आतुर. अभी डेढ़ साल पहले की ही बात है, जब उत्साही रानी सरसावां ब्लाक में शिवालिक मर्केंटाइल बैंक तथा नाबार्ड के सहयोग से कार्यरत सामाजिक संस्था जनहित के कार्यकर्ताओं के संपर्क में आई थी. वह जनहित के कार्यक्रम से जुडी और गाँव की ही 13 महिलाओं को साथ लेकर अपने महिला स्वयं सहायता समूह का गठन कर लिया. समूह के नामकरण की बात चलने पर उसे अपनी बेटी परी का नाम दे दिया. इस तरह “परी महिला स्वयं सहायता समूह” अस्तित्व में आया.

रानी ने सरसावां के ही एक सिलाई प्रशिक्षण सेंटर से तीन महीने का प्रशिक्षण प्राप्त किया, और अपने घर पर ही सिलाई का काम शुरू करने का फैसला किया. इसके लिए उसने अपने समूह से अपने नए काम के लिए जरूरी कर्ज लेकर अपने घर पर ही सिलाई का काम शुरू कर दिया. काम चल निकला और गाँव की ही अनेक महिलाएं इससे जुड़ गयी हैं. सब मिलकर कपडे सिलती हैं और इनकी बिक्री स्थानीय रूप से सरसावां कस्बे में ही हो जाती है.

नाबार्ड द्वारा जनहित फाउंडेशन के सहयोग से आजीविका विकास एवं महिला सशक्तिकरण के अंतर्गत स्वम सहायता समूह की महिलाओं का प्रशिक्षण गंगोह ब्लाक के गुजरान महल्ले में किया गया। इस कार्यशाला में जिला मुख्यालय से नाबार्ड के जिला प्रंबंधक डॉ शैलेन्द्र चौहान, लीड बैंक के सलाहकार श्री गगलियां, शिवालिक बैंक से श्री सौरभ कुमार, जनहित फाउंडेशन के जिला समन्वयक श्री मनोज कुमार उपस्थित हुए। प्रशिक्षण का शुभारम्भ डॉ शैलेन्द्र चौहान द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। शिवालिक बैंक के श्री सौरभ सिंघल ने महिलाओं को बैंक के नियम एवं बैंक से लेन-देन के बारे में समझाया। एवं साथ ही बैंक से लेन- देन करते समय बरतने बाली सावधानियों के बारे में भी बताया।

जिला समन्वयक श्री मनोज कुमार ने महिलाओं को जनहित के नियम समझाए एवं साथ ही समूह के द्वारा उनकी कार्यवाही रजिस्टर पर लिखे जाने वाले प्रस्ताव एवं अन्य बारीकियो को समझाया। लीड बैंक से आये श्री दिनेश जी ने महिलाओं को बताया कि बैंक से लोन लेने के बजाय बचत पर ज्यादा ध्यान देना चाहिये, जिससे कि महिलाओं का जीवन स्तर उठ सके. साथ ही बताया कि नाबार्ड एवं बैंक द्वारा कई योजनाये चलाई जा रही है, जिसका लाभ सभी महिलाये कैसे ले सकती है। नाबार्ड के डीडीएम डॉ शेलेन्द्र सिंह चौहान ने नाबार्ड से मिलने वाली सुविधाओं एवं संचालित योजनाओ के बारे में जानकारी दी। साथ ही बताया कि महिलाये कैसे अपनी आजीविका को बढा सकती है.

इंडियन आयल कारपोरेशन की टीम ने सहारनपुर जनपद के देवबंद ब्लाक में जनहित फाऊँडेशन द्वारा महिला स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से संचालित आजीविका विकास कार्यक्रम का स्थलीय निरीक्षण भ्रमण किया और स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं से भेंट की.उल्लेखनीय है कि देवबंद में जनहित का कार्यक्रम इन्डियन आयल कारपोरेशन के सीएसआर के अंतर्गत संचालित है. भ्रमण दल में इन्डियन आयल कारपोरेशन के उप प्रबंधक (एच. आर.) श्री राज कमल तथा उप प्रबंधक (विक्रय) श्री शिवेश अग्रवाल शामिल थे. भ्रमण के दौरान जनहित फाऊँडेशन के निदेशक, कार्यक्रम डॉ. आई.सी. नागर तथा जिला समन्वयक श्री मनोज कुशवाहा भी मौजूद थे.

मध्य प्रदेश के धार जिले में भी अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया. कार्यक्रम में बड़ी संख्या में मौजूद महिलाओं को महिलाओं के अधिकार, समाज में उनकी भूमिका, महिलाओं की शिक्षा, उनके स्वास्थ्य तथा उनकी आर्थिक आत्म-निर्भरता की आवश्यकता पर चर्चा की गयी.

एक और कहानी नानौता की प्रमिला की !!!

आज के दौर में महिलाओ का आत्मनिर्भर होना बहुत जरूरी है, विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में. क्योंकि आज की महंगाई को देखते हुए सिर्फ पुरुष की आमदनी पारिवारिक आवश्यकताओ की पूर्ति के लिए पर्याप्त नही है| इन्ही सब बातो को ध्यान में रखते हुए जनहित फाउंडेशन द्वारा सहारनपुर जिले के विभिन्न ब्लाकों में शिवालिक मर्केंटाइल कोआपरेटिव बैंक तथा नाबार्ड के सहयोग से आजीविका विकास कार्यक्रम महिला स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से चलाया जा रहा है|

इसके अंतर्गत नानौता ब्लाक के समन्वयक श्री महेंद्र यादव ने क्षेत्र की महिलाओ में उनकी खुद की शक्ति को जगाने का प्रयास किया जिसका एक परिणाम भोजपुर गाँव के राम महिला स्वयं सहायता समूह की उत्साही सदस्य श्रीमती प्रमिला देवी की नहीं सी, किन्तु उल्लेखनीय सफलता के रूप में सामने है:-

३० वर्षीय सीधी-सादी सी श्रीमती प्रमिला देवी पत्नी श्री मनोज ने कुल प्रायमरी स्तर तक की ही शिक्षा प्राप्त की थी और गाँव के ही “राम महिला स्वयं सहायता समूह” से जुड़ने से पहले घर में चूल्हे-चौके का ही काम किया करती थी. नतीजतन अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए उन्हें अन्य साथी महिलाओं की तरह ज्यादातर अपने पति पर ही निर्भर रहना पड़ता था. समुह से जुड़ने के बाद इस महिला ने समूह में रहकर बचत करने का तरीका सीखा, १०० रूपया माह जोड़कर १ साल में १२०० रुपया इकट्ठा करके उसे बड़ी ख़ुशी महसूस हुई । कार्य के प्रति लगन और आगे बढ़ने की उसकी ललक को देखकर नानौता के ब्लाक समन्वयक ने उसके अंदर छिपे हुए हुनर की पहचान की और उसे कुछ अपना बिजनेस करने की सलाह दी.

जनहित कार्यकर्ताओं की प्रेरणा रंग लायी, उसने समूह से पैसे लिए और अपनी खुद की किराना दुकान खोली, जिसमे चाय,चीनी, दाल,गुड, तेल,नमकीन, नमक इत्यादि से अपने व्यापार की शुरूआत की एवं खुद ही दुकान चलाने लगी. आज वह हर महीने ४४०० से लेकर ५२०० रूपये अपने ही घर में कमा कर अपने परिवार की आर्थिक स्थिति मजबूत कर रही हे । श्रीमती प्रमिला का मोबाइल नंबर ९७५८८१३२१४ है और उसकी सफलता की इस कहानी की पुष्टि स्वयं उनसे की जा सकती है.

Dividend distribution in eight SHGs was done in Islam Nagar Village ofNakur Block, Saharanpur on 22/August/2013 by Mr Shailendra Chauhan, DDM-NABARD Saharanpur.

Janhit Foundation is running SHG promotion program in Saharanpur since past three years and has promoted more than 2000 women SHGs in the district. Annual meetings are organised in each SHG to evaluate the finnacial progress, working and improvement areas within the SHG.

In line with the same Dividend earned by JYOTI(Group id 75), CHIRAG( Group id 86), Ambaa (Group id 130), Raunak (Group id 704), Aman (Group id 562), Pragati (group id275 ) and Neha (Group id 436) was distributed on 22/aug. Dividend earned by these SHGs ranged from Rs 7000-10000.

We are grateful to Mr Shailendra Chauhan, DDM-NABARD for sparing time and distributing the dividend among SHG members. Also, we are proud and extend our best wishes to our staff for their continuous determined efforts. Special Thanks to Mr Manoj Kushwaha, District Coordinator- Saharanpur, Mr Saurav Singhal Credit Manager, SMCB, Mr Hamendra, Block cordinator- Nakur Block. — in Saharanpur.